Friday, April 19, 2024

मात्र 75 हजार की इस बाइक का पूरा देश को बनाया दीवाना, बिक्री में Honda और TVS से लेकर Bajaj बाइक तक फेल

मात्र 75 हजार की इस बाइक का पूरा देश को बनाया दीवाना, बिक्री में Honda और TVS से लेकर Bajaj बाइक तक फेल। देश में सबसे ज्यादा बिकने वाली मोटरसाइकिल का खिताब हीरो स्प्लेंडर ने अपने नाम किया है। अन्य कंपनियों को स्प्लेंडर के आस-पास फटकने का मौका नहीं मिल रहा। फरवरी 2024 में भी हीरो स्प्लेंडर ने होंडा, बजाज, टीवीएस और रॉयल एनफील्ड जैसी दिग्गज कंपनियों को पीछे छोड़ दिया। टीवीएस की रेडर व अपाचे सीरीज़ हो या बजाज पल्सर या फिर रॉयल एनफील्ड क्लासिक 350, हीरो की कम्यूटर बाइक के आगे सब फीकी हैं।

पिछले महीने Splendor ने बिक्री में तोड़े रिकॉर्ड:

फरवरी 2024 में, हीरो स्प्लेंडर सीरीज़ की कुल 2,77,939 यूनिट्स बिकीं, जिसमें करीब 9 प्रतिशत की मासिक वृद्धि देखी गई। हालांकि, हीरो स्प्लेंडर प्लस की बिक्री में सालाना 3.70 प्रतिशत की गिरावट आई है। Hero मोटोकॉर्प अपने स्प्लेंडर सीरीज़ के तहत कुल 4 मॉडल बेचता है – स्प्लेंडर प्लस, स्प्लेंडर प्लस एक्सटेक, सुपर स्प्लेंडर और सुपर स्प्लेंडर एक्सटेक। इनकी एक्स-शोरूम कीमत 75,141 रुपये से शुरू होती है।

Honda Shine दूसरे और Bajaj Pulsar तीसरे नंबर पर:

भारत में सर्वाधिक बिकने वाली टॉप 10 मोटरसाइकिलों की सूची में होंडा शाइन का दूसरा स्थान रहा, जिसकी 1,42,763 इकाइयाँ बिकीं। शाइन सीरीज़ की बाइक की बिक्री में 310 प्रतिशत की मासिक वृद्धि हुई है। बजाज पल्सर तीसरे नंबर पर थी, जिसे 1,12,544 ग्राहकों ने खरीदा। पिछले महीने चौथी सबसे ज्यादा बिकने वाली मोटरसाइकिल हीरो एचएफ डीलक्स थी, जिसे 76,138 ग्राहकों ने खरीदा। पांचवें नंबर पर टीवीएस रेडर रही, जिसे 42,063 ग्राहकों ने खरीदा।

टॉप 10 में दमदार बाइक रॉयल एनफील्ड क्लासिक 350 भी शामिल है :

फरवरी की टॉप 10 मोटरसाइकिल लिस्ट में टीवीएस अपाचे छठे स्थान पर रही, जिसे 34,593 ग्राहकों ने खरीदा। इसके बाद हीरो पैशन 7वें स्थान पर रही, जिसे 31,302 ग्राहकों ने खरीदा। आठवें नंबर पर बजाज प्लैटिना रही, जिसे 28,718 लोगों ने खरीदा। 9वें नंबर पर रॉयल एनफील्ड क्लासिक 350 थी, जिसकी 28,310 यूनिट्स बिकीं। होंडा यूनिकॉर्न 10वें नंबर पर रही, जिसे 21,293 ग्राहकों ने खरीदा।

देश भर में पिछले महीने कुल 7,95,663 मोटरसाइकिलें बिकीं, जो ठीक एक साल पहले बेची गईं 5,83,239 इकाइयों की तुलना में 36.42 प्रतिशत अधिक है।

RELATED ARTICLES

Most Popular